ख़ुशी को आकर्षित कैसे करे – ( khusiyo ko aakarsit kese kre in hindi )

ख़ुशी को आकर्षित कैसे करे –  करने के लिए आपको लॉ ऑफ़ अट्रैक्शन को अपनी रोजाना जीवन में उपयोग करना होगा।  जिससे आप कभी भी किसी भी समय अपनी लाइफ में खुसियो को आकर्षित  कर सकते है।

ख़ुशी दो तरह की होती है 

एक जिसमे हम किसी वस्तु को लेके  मिलने की ख़ुशी या किसी चीज में खुद की जीत होती है उसमे खशी का मिलना होता इस ख़ुशी में सबसे जायदा फर्क होता   है।

आज मई आपके साथ दोनों तरह की खुसी की  करूंगा जोकि बहुत ही ध्यान से बहुत चीजों को ऑब्सेर्वे करके सोचा गया है।

जब भी हम किसी को अपनी लाइफ में सोचते है और उसके बारे में सोचते सोचते हम उनको महसूस करने लगते है जब जब किसी को महसूस करते है और उसमे जो ख़ुशी मिलती है।

अक्सर उस ख़ुशी की जायदा वैल्यू होती है क्योकि ये खुसी कोई नार्मल ख़ुशी नहयी होती है ये हम लोगो को प्रग्रति से  प्राप्त होती है।

आकर्षण के नियम में दो तरह की खुसियो की बात की गयी है जोकि इस प्रकार है।

एक ख़ुशी जो इन्सान को अंदर से महसूस होती है जिसके होने से किसी का मिलना न ही किसी कामयाबी का होने से होता है वो बस कुछ कुछ धीरे धीरे महसूस करने से होती है।

कुछ समय के लिए खुसी का लाइफ में आना जाना कैसे होता है। 

 

अक्सर लोग बोलते है की मुझे जो खुसी मिली वो बहुत काम टाइम के लिए मिली है।  तो दोस्तों उसका एक ही जबाब है  की हाँ जी अपने सही सोचा है की ये ख़ुशी आपको बहुत छोटे टाइम को मिली है क्योकि आपने ख़ुशी को महसूस नहीं किया अपने महसूस किया उस चीज को जिससे ख़ुशी मिली है।

अगर आप दोनों में से किसी एक चीज को पकड़ते की मुझे जिस चीज से ख़ुशी मिलरी है या तो में उसको पकड़ लू या खुशिया पकड़ लू  अब आपके हाथ में है क्या पकड़ना है।

अगर आप किसी चीज को पकड़ोगे तो आप सायद भूल सकते है कुछ टाइम के लिए की जिस भी चीज को अपने पकड़ा है आज ही वो आपके पास है कल हो न हो।  उससे मिलने वाली ख़ुशी को आकर्षित कैसे करे  सायद  कम समय के लिए हो सकती है 

अगर आपने व्ही उस चीज से जायदा उस पर ध्यान दिया होता की ख़ुशी जो आज मिली बस उसमे ही होना  चाहू  तो आपके लिए वो किये गए खुशियों के पल महसूस होंगे नाकि वो चीजे।

 कोई रहे या  न रहे खुशियाँ  रहनी चाइये,  जिंदगी बस एक खुशियों की ही कहानी है। 

आकर्षण के नियम से मिलने वाली खुशिया

खुशियों को महसूस करे – आप अगर अपनी लाइफ में खुशिया ढूंढ रहे है तो आपको वो खुशिया बहुत आसानी से मिल जाएगी बस आपको खुद को खुशियों में महसूस करना है चाहे आप कितने भी दुखी हो।

आपको कभी भी ये लगने नहीं देना आप खुस नहीं हो।  आप खुस हो या न हो आपको महसूस करना है की  में  खुश  हु और मुझे अपनी खुशियो  की आवाज   सुनना  बहुत पसंद है।

ऐसे ही ऐसे आप अपने आप को बस उन परिस्थि में महसूस करते जाइये आपको वो ख़ुशी ये वर्ल्ड जरुरी देगा।  क्योकि में एक अस्मि सकती है वो जरुरी काम करती है आप जैसे ही उसको हमेसा अपने जीवन में उतारते जायेगे वो आपको जरुरी मिलेगी चाहे वो कुछ भी हो।

क्या करे –

 जैसी  आप सुबह को उठ जाते है तो आपको हमेसा एक मुस्कुराती हुई मुस्कान के साथ बोलना है में ख़ुश  हूँ।  और जैसी आप ये सब बोलने लगेंगे तो आपको ये आवाजे और जो आप सोच रहे है  वो खुद बे खुद आपके यूनिवर्स में जाने लगेगा और आप खुद ही उन खुशियों में खुद को जीता देखेंगे। 

जिंदगी में सब कुछ एक  विचारो की दुनिया में बनाया गया छोटा सा आसियाना है जिसमे हर कोई आता है कुछ साल रहता है और चाला जाता है। 

 

खुशियों में जीने के विचार 

  • में अपनी लाइफ में हर एक पल खुस  खुश हूँ
  • मुझे हर एक चीज में ख़ुशी मिलती है।
  • मेरी लाइफ में रहने वाले लोगो ने और इस संसार ने मेरी लाइफ बनाया है।
  • पल पल की कहानी में उसको यही महसूस करते जाइये आपको सब कुछ मिलेगा।

1 thought on “ख़ुशी को आकर्षित कैसे करे – ( khusiyo ko aakarsit kese kre in hindi )”

  1. Pingback: दोपहर के सपने सच होते है या नहीं - law of attraction dream

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *