आगरा पेठा इतना प्रसिद्ध क्यों है

पेठा, ताजमहल जितना पुराना एक विश्वास……..

पेठा ऐसी मिठाई है जिसे हर कोई पसंद करता है क्योकि पेठा सिर्फ फल ओर चीनी से बना हलवाई है जो अब आगरा का पर्यायवाची बन चूका है।

आगरा का प्रसिद्ध शहर मुग़ल वस्तुकला के लिए जाना जाता है लेकिन एक मीठे दाँत वाले पर्यटक सहमत होंगे की शहर मैं लगभग सर्वव्यापी है की स्वादिस्ट पेठा मैं ख़ुदाई के बिना आगरा की यात्रा अधूरी है।

माना जाता है पर्यटक यहाँ घूमने आते है तो तरह तरह के पेठा खाने पसंद करते है भारत के पर्यटक ही नही विदेशो से आने वाले पर्यटक भी पेठे का आनंद लेते है ओर अपने परिवार के लिए लेकर भी जाते है।

हां, हम उसी मीठी सफ़ेदी वाली मुलायम कैंडी का जिक्र कर रहे है जो 90 के दशक तक एक औसत भारतीय के लिए सबसे सस्ती मिठाईयों मैं से एक हुआ करती थी।

मुझे आज भी याद है ज़ब मैं मौसी के जाती थी छुट्टियों मैं तो पेठा जरूर खाती थी ओर अपने दोस्तों के लिए लेकर भी आती थी। एक पेठा खाने से कभी मन नही भरता था क्योकि उसका स्वाद ही इतना अच्छा होता है की बार बार मन करता है खाने का।

आज कल तो तरह तरह स्वाद के पेठे आने लगे है जैसे- अंगूरी, चॉकलेट ओर भी कई तरह के है जिन्हे लोग बहुत पसंद करते है।

इसकी लुप्त होती लोकप्रियता को देखते हुए, हमने सोचा यह जान लेना दिलचस्प होगा की पेठे की पृष्ठभूमि जानने लायक है

निचे, हम दुनिया मैं बनी सबसे शुद्ध मिठाईयों मैं से कुछ पर नज़र डालते है:-

  • पेठा बनाने के इस्तमाल होने वाली मुख्य सामग्री मैं से एक है लौकी उर्फ सर्दियों का तरबूज या सफेद कद्दू। लम्बे समय बाद, जब शाहजहाँ ने आगरा पर शासन किया तो उसने अपने रसोइयों से एक अनोखी मिठाई बनाने के लिए कहा जो ताजमहल की तरह शुद्ध ओर सफेद हो। शाही रसोईयों ने कड़ी मेहनत की ओर पेठा नामक एक नयी मिठाई का अविष्कार किया।

  • अपने अवयवों के कारण, फल, चीनी ओर पानी से युक्त, इसे दुनिया मैं सबसे शुद्ध मिठाई माना जाता है।

  • पेठे को नियमित रूप से पकाने वाली आग पर नही पकाया जाता लेकिन इस मीठे उपचार को तैयार करने के लिए केवल कोयले की आग का उपयोग किया जाता है।

  • आगरा मैं बने पेठे मैं अपनी उत्पत्ति के स्थान को प्रमाणित करने के लिए एक भौगोलिक संकेत (जीआई) टैग है।

  • समय बीतने के साथ, पेठा की कई किस्मे बाजार मैं आ गयी है जो संरक्षक की मांग और बदलते तालू को पूरा करती है आजकल, खरीददार केसर पेठा (केसर), अंगूरी पेठा (अंगूर), चॉकलेट पेठा, पान पेठा औऱ इसी तरह से चुन सकते है।

             

  • नारियल और सूखे फल प्रमियों के लिए भी स्वादिष्ट पेठा का हिस्सा हो सकता है।

  • प्रामाणिक पेठा खरीदने के लिए आगरा मैं सबसे अच्छी दुकाने है पंछी पेठा, गोपालदास औऱ मुन्ना लाल पेठा वाले।

  • वास्तव मैं, पच्ची पेठा पेठा निर्माण व्यवसाय में एक गेम-परिवर्तक है। उनके पास अकेले पेठा के 25 संस्करण है, और पूरे शहर मैं आउटलेट है।

पेठा निर्माण उद्योग अब आगरा का एक अविभाज्य अंग बन गया है अब तक, आगरा के नूरी गेट क्षेत्र मैं 700 से अधिक काटेज इस तरह की एक मिठाई बनाने मैं लगे हुए है।

इन सभी कारणों से, यह कहना सुरक्षित है की ताजमहल के बाद, यह आगरा को प्रसिद्ध बनाने वाला पेठा है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *